Ahmedabad Hindi News - अहमदाबाद लेटेस्ट न्यूज़ और लाइव समाचार

बोरसद की तहसीलदार आरती ने पेश की 'ममता' की मिसाल
Patrika | 7 hours from now | 05-07-2022 | 12:05 pm
Patrika
7 hours from now | 05-07-2022 | 12:05 pm

आणंद. जिले की बोरसद तहसील के सीसवा गांव में रबारी चकला क्षेत्र में देवीपूजक वास में एक वर्ष से छोटी बच्ची को माता के साथ तहसीलदार आरती गोस्वामी ने गोद में उठाकर सरकारी वाहन से सुरक्षित स्थान तक पहुंचाया।तहसीलदार आरती ने बताया कि प्राकृतिक आपदा के समय पीडि़तों को मदद पहुंचाने का उनका प्राथमिक दायित्व है। देवीपूजक वास में पानी में फंसी माता विद्या चुनारा घर छोडऩे को तैयार नहीं थी। समझाने की कोशिश करने के बाद बच्ची को उन्होंने गोद में उठाया और बच्ची की माता के साथ सरकारी वाहन से पटेल वाडी में पहुंचाया। वहां उनके लिए भोजन-पानी आदि चीजों की व्यवस्था प्रशासन की ओर से की गई है। विपदा की घड़ी में तहसीलदार की मानवीय पहल से बच्ची की माता खुश हो गई।मूसलाधार बारिश से बोरसद तहसील के निचले क्षेत्रों में भारी भरा होने से ग्रामीणों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाया गया। समीप के हाईस्कूल और पटेल वाडी में लोगों को ठहराया गया। जिला कलक्टर मनोज वाई. दक्षिणी के आदेश पर प्रांत अधिकारी और तहसीलदार लोगों को सुरक्षित स्थान पर पहुंचाने के कार्य की निगरानी रख रहे हैं। आजी-1 डैम में आज छोड़ेंगे सौनी योजना का नर्मदा नीर राजकोट. राजकोट के आजी-1 डैम में मंगलवार सुबह 8 बजे से सौनी योजना का नर्मदा नीर छोड़ा जाएगा। अलग-अलग पंपिंग स्टेशनों के जरिए आजी-1 डैम के लिए छोड़ा जाने वाला पानी 48 घंटे बाद आजी-1 डैम में पहुंचेगा।सिंचाई विभाग के सूत्रों के अनुसार धोलीधजा पंपिंग स्टेशन, मूली, थान पंपिंग स्टेशन से 2-2 पंप, मच्छु-1 पंपिंग स्टेशन से 3 पंप सहित कुल 9 पंप से 180 एमसीएफटी पानी छोड़कर त्रंबा तक पहुंचाया जाएगा। फिलहाल आजी-1 डैम में 16 फीट पानी है।गौरतलब है कि जून महीना पूराह होने के बावजूद संतोषजनक बारिश नहीं होने के कारण शहर में जलापूर्ति के स्त्रोत आजी-1 डैम व न्यारी-1 डैम में आवश्यकता के अनुरूप पानी की आवक नहीं हुई। राजकोट मनपा की मांग पर राज्य सरकार ने मंजूरी दी।

बोरसद की तहसीलदार आरती ने पेश की 'ममता' की मिसाल
'वृद्धजनों को सभी आधुनिक सुविधाएं उपलब्ध कराएगा वरिष्ठ नागरिक सेवा सदन'
Patrika | 15 hours ago | 04-07-2022 | 12:48 pm
Patrika
15 hours ago | 04-07-2022 | 12:48 pm

अहमदाबाद. पीर पराई फाउंडेशन एवं परिवर्तन संस्था के संयुक्त तत्वावधान में अहमदाबाद के घुमा क्षेत्र में जगन्नाथ रथयात्रा के दिन शुक्रवार को उद्योगपति व समाजसेवी ओमप्रकाश जैन ने वरिष्ष्ठ नागरिक सेवा सदन का शुभारंभ किया। कार्यक्रम का शुभारंभ सुंदरकांड पाठ से किया गया। इस सेवा सदन में १५ डबल बेड हैं। एसी की सुविधा है। साथ ही दो हजार फीट का हरियाली युक्त योगाश्रम एरिया है। भोजनालय, प्ले रूम है। 55 वर्ष से अधिक आयु के व्यक्तियों को ही प्रवेश सेवा सदन में 55 वर्ष से अधिक आयु के व्यक्तियों को ही प्रवेश मिलेगा। पीर पराई फाउंडेशन के अध्यक्ष एवं परिवर्तन संस्था के मैनेजिंग ट्रस्टी शरद अग्रवाल ने इस दौरान कहा कि आज से पांच वर्ष पूर्व जगन्नाथ रथ यात्रा के दिन संस्था की ओर से तत्कालीन केन्द्रीय वित्त राज्य मंत्री शिवप्रताप शुक्ला के हाथों वृद्धजन पेंशन योजना शुरू की थी, जो आज भी चालू है। वरिष्ठ नागरिकों के लिए मनोरंजन,तीर्थ यात्रा व पिकनिक जैसे कार्यक्रमों का आयोजन किया जाएगा। इस अवसर पर शिवाकाशी फाउंडेशन के ट्रस्टी राजेश अग्रवाल का सम्मान किया गया। ओमप्रकाश जैन, विजय अग्रवाल, साबरमती अग्रवाल समाज के संरक्षक शिव नारायण गर्ग, कृष्णा धाम के राजीव गोयल का भी सम्मान किया गया। कार्यक्रम में परिवर्तन के ट्रस्टी रमेश जैन व प्रमोद गुप्ता तथा समाज के अग्रणी श्याम सुंदर ढाणावाला ,अरूण अग्रवाल,विनय जैन व अन्य ने भाग लिया। रामेश्वर जोशी बने गुजरात युवा इकाई के प्रदेश अध्यक्ष अहमदाबाद. अखिल भारतवर्षीय महर्षि गौतम शैक्षणिक एवं पारमार्थिक ट्रस्ट युवा प्रकोष्ठ की गुजरात प्रदेश इकाई के अध्यक्ष पद पर अहमदाबाद के रामेश्वर जोशी को मनोनीत किया गया है। राजस्थान के भीलवाड़ा में प्रकोष्ठ के केंद्रीयकृत कार्यालय में हाल ही आयोजित बैठक में मुख्य अतिथि के तौर पर राष्ट्रीय युवा महामंत्री गुजरात के मुकेशकुमार व्यास शामिल हुए। उन्होंने राष्ट्रीय अध्यक्ष वीरेंद्र शर्मा के निर्देशानुसार व राष्ट्रीय युवा संयोजक मनोज शर्मा की अनुमोदना पर जोशी को मनोनीत किया। राष्ट्रीय युवा संयोजक मनोज शर्मा गोटेवाला ने अध्यक्षता करते हुए राष्ट्रीय स्तर पर युवाओं को ट्रस्ट में भागीदारी बनाने पर जोर दिया।

'वृद्धजनों को सभी आधुनिक सुविधाएं उपलब्ध कराएगा वरिष्ठ नागरिक सेवा सदन'
Pavagadh Kalika Mata Temple पावागढ़ में महाकाली माता के दर्शन को उमड़ा श्रद्धालुओं का सैलाब
Patrika | 15 hours ago | 04-07-2022 | 12:36 pm
Patrika
15 hours ago | 04-07-2022 | 12:36 pm

दाहोद. पंचमहाल जिले के पवित्र यात्राधाम पावागढ़ स्थित महाकाली माताजी के धाम में रविवार को सुबह के समय से ही माता के दर्शन के लिए हजारों श्रद्धालुओं की भीड़ उमड़ पड़ी। सुबह के समय से ही यहां पर पावागढ़ की तलहटी में स्थित चांपानेर से लेकर पहाड़ पर माताजी के मंदिर तक श्रद्धालुओं की भीड़ देखी गई। सभी भक्तों की बस एक ही इच्छा थी कि वे कितनी जल्दी मां काली के दर्शन का लाभ ले पाएंगे। 500 वर्ष बाद महाकाली माताजी के मंदिर शिखर पर लहराती हुई ध्वजा को देखकर श्रद्धालु उनके चरणों में शीश झुकाने के लिए अपनी बारी का बेसब्री से इंतजार कर रहे थे। हाल ही में यात्राधाम पावागढ़ में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने महाकाली माताजी के मंदिर के शिखर पर ध्वजा चढ़ाकर देश और दुनिया भर में बसे हुए मां काली के भक्तों की इच्छा पूरी कर दी है। अवकाश का दिन होने की वजह से यहां पर श्रद्धालुओं की यहां भारी भीड़ उमड़ी। इसकी वजह से सुबह से शाम तक यहां पर करीब दो लाख से ज़्यादा श्रद्धालुओं ने महाकाली माताजी के दर्शन किए। चार अवस्थाओं से होकर गुजरते हैं आध्यात्मिक साधक : सत्यश्रयानंदहिम्मतनगर. आनन्द मार्ग प्रचारक संघ की ओर से आयोजित प्रथम संभागीय सेमिनार के अवसर पर आनन्द मार्ग के केंद्रीय धर्म प्रचार सचिव आचार्य सत्यश्रयानंद अवधूत ने "साधना की चार अवस्थाएं" विषय पर प्रवचन दिया। उन्होंने कहा कि आध्यात्मिक साधना में मानवीय प्रगति एवं प्रत्याहार योग के चार चरण हैं यतमान, व्यतिरेक, एकेन्द्रिय एवं वशीकार। एक साधक को क्रम से इन चार अवस्थाओं से गुजरते हुए आगे बढऩा होता है। प्रथम अवस्था अर्थात यतमान में मानसिक वृत्तियॉ चित्त की ओर उन्मुख होती है। साधना के इस प्रयास में नकारात्मक प्रभावों या वृतियों को नियंत्रित करने का प्रयास होता है। साधक इनके खराब वृतियों के विरुद्ध संघर्ष करते हुए इन पर विजय पाने की चेष्टा करता है और वृत्ति प्रवाह से अपने को हटा लेने का सतत प्रयास करता है। दूसरी अवस्था व्यतिरेक की है। व्यतिरेक में साधक की वृत्तियां मन के चित्त से अहम तत्व की और उन्मुख होती है। इसमें कभी प्रत्याहार होता है, कभी नहीं होता।

Pavagadh Kalika Mata Temple पावागढ़ में महाकाली माता के दर्शन को उमड़ा श्रद्धालुओं का सैलाब
  • Mahaarti in mythological Sun temple पौराणिक सूर्य मंदिर में वर्षों बाद महाआरती में उमड़े श्रद्धालु
  • Patrika

  • Ahmedabad : ननिहाल से लौटे भगवान, निज मंदिर में नेत्रोत्सव विधि में उमड़े श्रद्धालु
  • Patrika

    अहमदाबाद. Ahmedabad शहर में शुक्रवार को निकलने वाली Bhagwan jagannath भगवान जगन्नाथ की 145वीं Rathyatra रथयात्रा से पहले बुधवार को जमालपुर स्थित जगन्नाथ मंदिर परिसर में traditional Netrotsav परंपरागत नेत्रोत्सव की विधि का आयोजन किया गया। इस दौरान बड़ी संख्या में जहां श्रद्धालु उमड़े वहीं साधु-संतों का अतिथि सत्कार किया गया। जलयात्रा के बाद लगभग एक पखवाड़े तक ननिहाल (सरसपुर) स्थित रणछोड़ राय मंदिर में रहने के बाद बहन सुभद्रा और बलदाऊ के साथ भगवान जगन्नाथ बुधवार को निज मंदिर (जगन्नाथ मंदिर) लौट आए। जहां सुबह नेत्रोत्सव विधि की गई। विधि के तहत भगवान जगन्नाथ, बहन सुभद्रा और बलदाऊ की आंखों पर पट्टी बांधी गई। उसके बाद ध्वजारोहण किया गया और फिर महाआरती हुई। जिसमें बड़ी संख्या में लोगों ने भाग लिया। मंदिर के मंहंत दिलीपदास महाराज एवं गृह मंत्री हर्ष संघवी ने महाआरती में भाग लिया। गुजरात भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष सी.आर. पाटिल एवं गृह मंत्री हर्ष संघवी ने भगवान की पूजा अर्चना की। बुधवार को गर्भ गृह के कपाट खुलने के साथ ही भगवान जगन्नाथ के जयकारों से मंदिर परिसर गूंज उठा। इस दौरान किए गए ध्वजा रोहण की रश्म में भी लोगों की खूब भीड़ हुई। भंडारे में बड़ी संख्या में पहुंचे साधु संतनेत्रोत्सव विधि के बाद मंदिर परिसर में भंडारे का आयोजन किया गया, जिसमें देश के विविध भागों से साधु-संतों ने हिस्सा लिया। इन साधुओं को भोजन के रूप में मालपुआ, दूधपाक, सब्जी, पूड़ी, चावल आदि व्यंजन परोसे गए। भोजन के बाद उन्हें वस्त्रदान किए गए। पूर्व उपमुख्यमंत्री नितिन पटेल की ओर से वस्त्रों का दान किया गया। मंदिर परिसर में भोजन प्रसाद का लाभ आम श्रद्धालुओं ने भी लिया। ये है नेत्रोत्सव विधि चली आ रही परंपरा के अनुसार नेत्रोत्सव विधि में भगवान जगन्नाथ, बहन सुभद्रा और बलदाऊ की आंखों में दर्द होने के कारण पट्टी बांधी जाती है। रथयात्रा से दो दिन पहले वे निज मंदिर लौटते हैं उस दौरान यह विधि की जाती है। भगवान के दर्द को हरने के लिए प्रार्थना की जाती है और संतों को भोजन कराया जाता है। आंखों की पट्टी रथयात्रा के दिन सुबह खोली जाती है। और उसी दिन भगवान नगरभ्रमण करते हुए ननिहाल जाते हैं।

मंत्री त्रिवेदी ने मृतकों के परिजनों के पोंछे आंसू और सौंपे सहायता के चेक
Patrika | 17 hours ago | 04-07-2022 | 11:15 am
Patrika
17 hours ago | 04-07-2022 | 11:15 am

आणंद. राजस्व मंत्री राजेंद्र त्रिवेदी ने सोमवार को आणंद जिले की बोरसद तहसील में भारी बारिश से प्रभावित गांवों का दौरा किया। उन्होंने भारी बारिश के कारण जान गंवाने वाले मृतकों के परिजनों से मुलाकात की और उनके आंसू पोछे। प्राकृतिक आपदा में जान गंवाने वाले तीन मृतकों के परिजनों को उन्होंने 4-4 लाख रुपए की सहायता राशि के चेक सौंपे। 200 महिलाओं को साड़ी भी वितरित की।बोरसद तहसील के सीसवा गांव के महानिया महादेव क्षेत्र निवासी किशन ठाकोर भारी बारिश से प्रभावित लोगों के लिए भोजन पहुंचाने जा रहे थे। पांव फिसलने से पानी में डूबने से किशन की मौत हो गई थी। एनडीआरएफ की टीम ने उनका शव ढूंढ निकाला था। मृतक किशन की माता कमला से मुलाकात कर त्रिवेदी ने सांत्वना दी और आंसू पोंछे। सरकार की ओर से जारी चार लाख रुपए की आर्थिक सहायता का चेक सौंपा। उन्होंने बोरसद कठोल और सिसवा गांव के एक-एक मृतक के परिजनों से मुलाकात कर आंसू पोंछे और उन्हें भी आर्थिक सहायता राशि का चेक सौंपा।एनडीआरएफ टीम की सराहनाइस दौरान मंत्री ने एनडीआरएफ के निरीक्षक विजय कुमार व जवानों से मिलकर उनके कार्यों की सराहना की। उन्होंने कहा कि प्राकृतिक आपदा के दौरान एनडीआरएफ की ओर से किए गए प्रयास की वजह से ही कई लोगों की जान बचाना संभव हुआ। मंत्री द्वारा दी गई साडिय़ों को महिलाओं ने लौटाया महिलाओं का आरोप है कि 30 जून को जब अचानक भारी बारिश से बोरसद सहित आसपास के क्षेत्रों के निवासी जान बचाने की गुहार लगा रहे थे उस समय स्थानीय प्रशासन ने मदद नहीं की। रात को करीब ढाई बजे क्षेत्र का निवासी और मत्स्य उद्योग से जुड़ा गोरधन लोगों की सहायता के लिए आगे आया और अथक परिश्रम कर उसने 120 लोगों की जिंदगी बचाने में मदद की। इस बात की जानकारी मिलने पर जिला कलक्टर मनोज वाई. दक्षिणी ने उसे बुलाकर अपने साथ फोटो खिंचवाया। इसके बाद वह राजस्व मंत्री के साथ भी फोटो खिंचवाने वाला था। इस बात की जानकारी मिलने पर डी स्टाफ के पुलिसकर्मियों ने शराब की बिक्री का काम करने को लेकर गिरफ्तार कर लिया। हालांकि फिलहाल उसने शराब बिक्री के काम को छोड़कर नई राह पर कदम बढ़ाते हुए मछली बेचकर परिवार का गुजारा करना शुरू किया। महिलाओं का आरोप है कि डी स्टाफ के पुलिसकर्मी नहीं चाहते थे कि वह अचानक इस तरह से लोगों के बीच गोरधन चर्चित हो जाए। स्थानीय महिलाओं को गोरधन की गिरफ्तारी की जानकारी मिलने पर उन्होंने राजस्व मंत्री की ओर से दी गई साडिय़ां लौटा दी।

मंत्री त्रिवेदी ने मृतकों के परिजनों के पोंछे आंसू और सौंपे सहायता के चेक
Dog attacked 4-month-old girl in Vadodara वडोदरा में श्वान ने 4 महीने की बच्ची पर किया हमला, सिर नोंचा
Patrika | 17 hours ago | 04-07-2022 | 10:38 am
Patrika
17 hours ago | 04-07-2022 | 10:38 am

Dog attacked 4-month-old girl in Vadodara वडोदरा. शहर के समता क्षेत्र में एक मकान में सो रही 4 महीने 3 दिन की बच्ची Girl पर एक श्वान Dog ने हमला कर दिया Attacked। बच्ची का सिर Head नोंच कर thrashed खून Blood चाट रहे श्वान Dog को देखकर बच्ची की माता Mother ने मशक्कत कर बच्ची को श्वान से बचाया।बच्ची के पिता Father एक निजी कंपनी Private Compny में काम करने वाले आशीष के अनुसार 4 महीने 4 Months 3 दिन 3 Days की बच्ची Girl जान्वी को झूले में सुलाकर पत्नी Wife रविवार Sunday शाम Evening को घर House के समीप नल से पानी Water भरने गई थी। उस समय दरवाजे Gate की जाली खुली रह गई। तभी घूमता हुआ एक श्वान घर में घुस गया। 15 टांके लगाने पड़े आशीष के अनुसार घर लौटी Returned पत्नी ने देखा की बच्ची का सिर नोंचकर एक श्वान खून चाट रहा था। मशक्कत कर बच्ची के श्वान से छुड़वाया। गंभीर हालत में बच्ची को गोत्री अस्पताल Gotri Hospital पहुंचाया। वहां बच्ची के सिर पर 15 टांके लगाने पड़े। पहले भी हो चुकी है श्वान के हमले की घटनाएं गौरतलब है कि इससे पहले भी श्वान के हमले की घटनाएं हो चुकी हैं। मई महीने में शहर के समीप सुंदरपुरा गांव में घर में घुसे श्वान ने हमला कर सात साल की बच्ची का अंगूठा काटकर खा लिया था। बच्ची को सयाजी अस्पताल पहुंचाने पर चिकित्सकों ने उपचार किया था। इसके अलावा मई महीने में शहर के हरणी क्षेत्र में एक क्वार्टर में श्वान ने पांच लोगों को काट लिया था।

Dog attacked 4-month-old girl in Vadodara वडोदरा में श्वान ने 4 महीने की बच्ची पर किया हमला, सिर नोंचा
Boiler exploded in Vadodara company वडोदरा की कंपनी में धमाके के साथ फटा बॉयलर, कांच लगने से एक की मौत
Patrika | 17 hours ago | 04-07-2022 | 10:38 am
Patrika
17 hours ago | 04-07-2022 | 10:38 am

Boiler exploded in Vadodara company वडोदरा. शहर के सरदार एस्टेट क्षेत्र स्थित एक कंपनी में धमाके के साथ बॉलयर फटने से एक व्यक्ति की मौत हो गई। इस दौरान आग की लपटेें निकलने से एक महिला सहित दो कर्मचारी झुलस गए।सरदार एस्टेट क्षेत्र स्थित एक कंपनी में पाउडर कोटिंग का काम किया जाता है। कंपनी के मालिक तीन भाइयों में से मझला भाई दिलावर काचवाला मशीन चालू करने के समय एक कुर्सी पर बैठा था। धमाके के साथ बॉयलर फटने से आग लग गई। खिड़कियों के कांच टूटकर उछल गए। दिलावर के सिर पर कांच लगने से उसकी मौत हो गई।उस समय दिलावर का बड़ा भाई शब्बीर कांचवाला, छोटा भाई नासिर कांचवाला, कंपनी में काम करने वाली महिलाएं वाघोडिया रोड निवासी हंसा नाडिया व टीना कहार और एक अन्य कर्मचारी कंपनी के बाहर खड़े थे। कंपनी के दरवाजे के समीप खड़ी टीना कहार सहित दो लोग आग की लपटों की चपेट मेें आकर झुलस गए। दो किमी दूर तक सुनाई दी आवाज धमाके के साथ कंपनी के दरवाजे भी उछलकर दूर जा गिरे। दो किलोमीटर दूर तक धमाके की आवाज सुनाई दी। इस कारण आस-पास के कारखानों के कर्मचारी भी बाहर निकल गए। बड़ी संख्या में लोग मौके पर पहुंचे। आग लगने के कारण किसी ने भी कंपनी में जाने का प्रयास नहीं किया। सुरक्षित स्थान पर पहुंचाए घरेलु गैस के तीन सिलेंडर सूचना मिलने पर टीम के साथ मौके पर पहुंचे पाणीगेट दमकल स्टेशन के उप अग्निशमन अधिकारी निकुंज आजाद के अनुसार झुलसे लोगों को तुरंत अस्पताल भेजा गया। दमकलकर्मियों ने कंपनी में रखे घरेलु गैस के तीन सिलेंडर को सुरक्षित स्थान पर पहुंचाया, इस कारण बड़ी दुर्घटना टल गई। उनके अनुसार कंपनी में फायर सेफ्टी की सुविधा के बारे में जांच की जाएगी।सूचना मिलने पर मौके पर पहुंची पुलिस टीम ने जांच शुरू की है। समय पर जांच नहीं होने से घटनाएं होती हैं : रावत सूचना मिलने पर मनपा में विपक्ष की नेता अमी रावत, कांग्रेस के पूर्व पार्षद अनिल परमार मौके पर पहुंचे। रावत ने आरोप लगाते हुए कहा कि समय पर प्रशासन की ओर से छोटी-बड़ी कंपनियों में कानून के अनुरूप जांच नहीं होने से ऐसी घटनाएं होती हैं।

Boiler exploded in Vadodara company वडोदरा की कंपनी में धमाके के साथ फटा बॉयलर, कांच लगने से एक की मौत