Gujarat Assembly News 2022 राजकोट जिले में 70% मतदान का लक्ष्य, युवाओं-दिव्यांगों पर फोकस

Patrika | 6 days ago | 23-09-2022 | 10:23 am

Gujarat Assembly News 2022 राजकोट जिले में 70% मतदान का लक्ष्य, युवाओं-दिव्यांगों पर फोकस

राजकोट. गुजरात विधानसभा के चुनाव की तैयारियों को लेकर 26-27 सितम्बर को चुनाव आयोग के अधिकारी गांधीनगर आएंगे। वे राज्य के सभी कलक्टर, पुलिस उपाधीक्षकों और उच्चाधिकारियों के साथ बैठक करेंगे। इस बार के चुनाव में जहां पिछली बार 64 फीसदी मतदान को बढ़ाकर इस बार 70 फीसदी का लक्ष्य रखा गया है, वहीं दिव्यांगों और युवाओं को भी जागरुक करने के लिए विशेष तकनीक इस्तेमाल की जाएगी। विधानसभा चुनाव के लिए प्रशासन की तैयारियों संबंधित जानकारी देते हुए कलकटर अरुण महेशबाबू ने बताया कि चुनाव के सभी सेक्टर, बूथ, मतदान, मतदाता जागरुकता, स्वीप, दिव्यांग और युवा वर्ग के मतदान पर ध्यान केन्द्रीत किया गया है। प्रथम हाफ में 17 से 18 नोडल ऑफिसर की नियुक्त पूरी हो चुकी है। बुधवार को सभी को पहला प्रशिक्षण दिया जा चुका है। धन राशि लेकर चलने के संदर्भ में जारी होंगे निर्देशकलक्टन ने बताया कि सिटी में 13 और ग्रामीण क्षेत्र में 22 चेकपोस्ट बनाए जाएंगे। सभी चेकपोस्ट पर पुलिस, वीडियोग्राफर और स्टेटिकल स्क्वॉड की टीम तैनात रहेगी। व्यापारियों या फर्म के कर्मचारी चुनाव के दौरान कितनी रकम लेकर आवाजाही कर सकेंगे इस संबंध में निर्देश जारी किया जाएगा। सभी विधानसभा क्षेत्रों में नियंत्रण कक्ष बनाया जाएगा। पिछली बार राजकोट के शहर और जिले में 64 फीसदी मतदान हुआ था, इस बार 70 फीसदी मतदान के लिए प्रयास किया जाएगा। कलक्टर ने कहा- सभी विधानसभा सीटों पर प्रशिक्षण कार्यक्रम होंगे आयोजितकलक्टर ने बताया कि सभी विधानसभा सीटों के लिए अलग-अलग प्रशिक्षण कार्यक्रम आयोजित किए जाएंगे। आरओ और बीएलओ का प्रशिक्षण हो गया है, परंतु खर्च की वजह से वीडियो ग्राफरों का विधानसभा सीटों पर प्रशिक्षण दिया जाएगा। चेकिंग स्टेटिकल स्क्वॉड को भी प्रशिक्षण दिया जाएगा। इस स्टेटिकल स्क्वॉड में अधिकांश आयकर विभाग के कर्मचारियों को शामिल किया जाएगा। पुलिस बलों की तैनाती का काम ग्रामीण क्षेत्रों में शुरू किया गया है, वहीं शहरी क्षेत्रों में अभी बाकी है। शहर और जिलों में एसआरपी टीम, सीआरपीएफ की तैनाती को लेकर पूरी योजना पुलिस आयुक्त और पुलिस उपायुक्तों को भेज दी गई है। चुनाव में किस प्रकार का कितना मटिरियल्स की जरूरत होगी, इस संंबंध में वर्ग-1 के अधिकारियों का प्रशिक्षण शुरू किया गया है। ट्रांसपोर्टेशन की जरूरत को लेकर बसों व अन्य गाडिय़ों की व्यवस्था के संबंध में भी काम शुरू हो चुका है। कलक्टर ने कर्मचारियों के संबंध में बताया कि राजकोट शहर जिले में कुल 2253 मतदान केन्द्र है। इसके लिए रिजर्व पुलिस समेत 22 हजार कर्मचारियों की जरूरत होगी। अभी तक 18800 कर्मचारियों की डाटा एंट्री पूरी हो चुकी है। अभी चार हजार और कर्मचारी लिए जाएंगे। क्रिटिकल और कम मतदान वाले बूथ चिन्हित किए उन्होंने कहा कि जिन बूथों पर क्रिटिकल और कम मतदान होते हैं, उसकी जांच की जा रही है। इन बूथों पर कलक्टर, पुलिस आयुक्त और एसपी की ओर से दौरा शुरू किया गया है। उन्होंने बताया कि इस बार दिव्यांगों के लिए विशेष व्यवस्था की जाएगी। दिव्यांगों और युवा वर्ग को अधिक मतदान करने के लिए प्रेरित किया जाएगा। इसके तहत स्वीप एक्टिविटी, एमसीएमसी मेल, सी विजिल सॉफ्टवेयर के संबंध में श्रम उपायुक्त को नोडल ऑफिसर बनाया गया है। मतदान के दिन चुनाव आयोग ने अवकाश घोषित किया है, लेकिन उद्योगों में कर्मचारियों को अवकाश देने की अपील की गई है।

Google Follow Image